Digital India In Hindi Essay On Swachh

India has one of the fastest growing economies in the world. India is running toward the progress with a lightning speed. Technology plays the key role in the development of any country. And to ensure the steady and fast growth of the nation the government have to take necessary steps in the field of technology. Many schools across India organize various competitions such speech, essay, group discussion, and debate. You must be searching for the information about “Digital India Campaign” initiated by the Government of India. This article will help you for the short speech, essay and paragraph writing.

We are providing the core information which is sufficient at school or college level for any kind of competitions. There are also some tips to follow for the speech and essay competitions, which are really helpful. These tips will help you to write a better essay on Digital India programme.We will be dividing this article into sections such as introduction and impact of the Digital India campaign. You can modify the information according to your needs as the structure of an essay, short speech and paragraph differ. So, let’s start. Many students are looking for the information about Digital India in Hindi too, we have also written the essay on Digital India Campaign in Hindi (डिजिटल इंडिया कैंपेन हिंदी निबंध ), at the end of this article.

Essay on Digital India Campaign

The vision of Digital India program is to transform India into a digitally empowered society and knowledge economy.

Various e-government initiatives existed mainly like Railway computerization, land records computerization basically the information systems.Though the services were citizen-centric they had limited features. They were lacking interactivity, ease of use, so there was a need for better planning and execution and that’s where digital India programs come in. There are 3 core Vision areas of digital India program they are as follows, first ‘digital infrastructure as a core utility to every citizen’, second ‘governance and services on demand’, third ‘digital empowerment of citizens’.

National e-governance plan was started in the year 2006 under which common services center/ outlet (CSC) will provide the government related services to the citizen in his / her locality. More than 1.2 lakh centers are operational and delivering the expected services across all Indian states and UTs. There were lots of problems identified with the NeGP project like the inter-portability, government process re-engineering, use the latest technology like clouds and mobile. So government introduces new plan called e Kranti.

Key principles of e Kranti (digital India program)

All projects under e-Kranti must involve a great transformation in the quality, delivery, productivity, and competitiveness. Integrated services approach will be used rather than the individual services. Different related services should talk to each other to serve better. Under digital India program, all projects will be using cloud services by default. Cloud services are the latest technology of storage, there are lots of advantages of using the cloud services. All existing and new applications will be redesigned to suit the mobile-first strategy. As India is a young nation lots of people use mobiles, a big number of them have the smartphones so it is a good strategy to bring all those e-governance services on mobile. All services are expected to have fast-tracking approvals that will introduce the service level agreements and the accountability to the people who are in charge of making decisions. All services need to be localized in language. All services should be secured and they should protect the user’s data, so better cyber security measures will be implemented in digital India program.

Approach and methodology of Digital India campaign

Under digital India program existing ICT infrastructure will be used and upgraded, standards and policy guidelines will be created to support it. Existing and ongoing e-governance project will be revamped and enhanced, they will be deployed with latest technologies like cloud and mobile to ensure better delivery of services to the citizens. The government will be working together with private companies wherever necessary.

Sectors under Digital India / e Kranti program

The government will be bringing in following services online so that the delivery of the services will benefit the citizen. The list starts with Income Tax, passports, insurance, pensions, post offices, Visa and immigration, and state level projects like land records, road Transport, agriculture, treasuries, municipality, gram panchayat, school education, women and child development. Digital India is not just about education and simple portals, digital India will be touching lots of sectors like education, farmers, security, justice, financial inclusion, cyber security and more.

List of Digital India initiatives

Please note that there are lots of initiatives taken under the Digital India program and it will be not in the scope of this article to explain each and every project, each topic is worthy of a separate article itself.

Digital India initiatives are divided into three main parts infrastructure, services, and empowerment.
Under the infrastructure section, you will find various projects like statewide area network (SWAN), rapid assessment system, open data, mobile Seva app store, Meghraj, government e-Marketplace, e-sign, DigiLocker, Aadhaar etc. Various services which fall under the digital India program are Swachh Bharat app, startup India portal, soil health card, Passport Seva project, Parivahan portal, online labs, Nirbhaya app, national Ujala dashboard, national scholarship portal and Kisan and much more Under the empowerment category, we have projects like Ph.D. scheme, targeted Public Distribution system, smart cities, Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana, Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana, PAHAL, myGov portal and more.

The Digital India campaign has sought attention from technology giants around the world and they are happily ready to support this great initiative. Facebook‘s CEO, Mark Zuckerberg, changed his profile picture in support of Digital India and started a chain on Facebook and promised to work on WiFi Hotspots in rural areas of India. Google committed to providing broadband connectivity on 500 railway stations in India. Microsoft agreed to provide broadband connectivity to five hundred thousand villages in India and make India its cloud hub through Indian data centers. Oracle plans to invest in 20 states and will work on payments and Smart city initiatives.

Conclusion

The Indian government is taking right steps towards ensuring and delivering the better, transparent government services to the citizens. They are using the latest technologies, re-engineering the processes that will assure that we will get the better services than the previous attempts. We hope this crusade goes on and we get all the services online at our fingertips. As all these services, payments, data transfers, data storage will be online government needs to ensure the better cyber security.


Follow the given link to find the more short speech, essay or paragraph topics.


Tips for Digital India campaign speech

  • Check the latest data and stats from Digital India website digitalindia.gov.in
  • You can even print and show the stats while delivering your speech, that will be more interesting.
  • Practicing your speech in front of your friends or family will help you to gain confidence.

Tips for Essay and Paragraph Writing

  • You are not supposed to add headlines in essays. You can add them in paragraph writing.
  • You need to trim down some information for paragraph writing.

As Hindi is our national language and many people are looking for the information about Digital India in Hindi, we have also written the essay on Digital India Campaign in Hindi (डिजिटल इंडिया कैंपेन हिंदी निबंध ), at the end of this article.

I am not a very good Hindi speaker, but I tried my best to make this short essay on Digital India campaign in Hindi (डिजिटल इंडिया कैंपेन हिंदी निबंध ). Please let me know if there are any typing and grammatical mistakes.

डिजिटल इंडिया कैंपेन हिंदी निबंध:  Digital India Campaign  Speech and Essay in Hindi

भारत में टेक्नोलॉजी का अधिकतम उपयोग और टेक्नोलॉजी के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए भारत सरकार ने डिजिटल इंडिया अभियान की शुरुवात की है. डिजिटल इंडिया एक ऐसा अभियान है जिसके द्वारा भारत सरकार ये सुनिश्चित करना चाहती है की सरकार द्वारा जो भी सुविधाएं जारी की जाती है वे भारत की जनता तक इलेक्ट्रॉनिक माध्यम द्वारा पहुचे और यह सुविधाए पहुचने के लिए एक उन्नत इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क प्रसारित करने का प्रबंध किया है. डिजिटल इंडिया एक संरचित प्रक्रिया है जिसमे इन्टरनेट का अधिकतम उपयोग करने और भारत को टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक कदम आगे बढ़ाने के लिए प्रयत्न किये जा रहे है जिसके द्वारा लोगोको अपनी रोजाना जिंदगी में टेक्नोलॉजी का अधिकताम उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया गया है.

डिजिटल इंडिया का शुभारम्भ १ जुलाई २०१५ के दिन भारत के प्रधानमन्त्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी ने की. इस अभियान के तहत भारत के कई छोटे गाव और शहर हाई स्पीड इन्टरनेट से जोड़े जायेंगे.

डिजिटल इंडिया अभियान के ३ प्रमुख स्तंभ है.

१. भारत में एक बड़े डिजिटल नेटवर्क की निर्मिति करना .

सरकार द्वारा जारी की हुई योजनाओ को आम आदमी तक डिजिटल माध्यम से पहुचाने के लिए एक एक विशाल डिजिटल नेटवर्क की आवश्यकता है. वर्त्तमान में अभी तक भारत के ग्रामीण विभागों में डिजिटल नेटवर्क की कमी है. यही कमी पूरी करने के लिए ये ग्रामीण विभागोमे डिजिटल नेटवर्क का निर्माण किया जाएगा.

२. सरकारी सेवाओ का डिजिटल वितरण

सरकारी सेवाओ का  डिजिटल रूप में वितरण करना यह डिजिटल इंडिया अभियान का एक प्रमुख भाग है. इसी अभियान के तहत भारत सरकार ने अपनी कई सेवाएं डिजिटल अथवा ऑनलाइन स्वरुप में उपलब्ध की है जैसे की आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदान पत्र और अन्य कई सुविधाएं इलेक्ट्रॉनिक माध्यम में उपलब्ध की गयी है. सरकारी सुविधाएं ऑनलाइन करने के कारण व्यवहार में पारदर्शिता बनी रहेगी अर्थात भ्रष्टाचार रोकने में भी मदद होगी.

३.डिजिटल साक्षरता

टेक्नोलॉजी के कारन अब शिक्षा केवल किताबो तक ही सिमित नहीं रही. अब आप दुनिया की कोई भी जानकारी इन्टरनेट पे क्लिक में पा सकते है. डिजिटल साक्षरता के तहत डिजिटल लर्निंग में शामिल होनेवाली कई सुविधाएं जैसे की इलेक्ट्रॉनिक यन्त्र जैसे की कंप्यूटर, स्मार्टफोन, टेबलेट इनका मुलभुत  और उच्च तथा जटिल कंप्यूटर सॉफ्टवेयर्स और हार्डवेयर का ज्ञान ऑनलाइन पाया जा सकता है. डिजिटल साक्षरता के तहत भारत सरकार ने कई विषयो के पाठ्यक्रम मुफ्त में ऑनलाइन उपलब्ध किये है.

डिजिटल इंडिया का प्रभाव और आंकड़े

डिजिटल इंडिया अभियान भारतीय जनता में टेक्नोलॉजी के महत्व के बारे में जागरूकता निर्माण करने सफल हुई है. भारत में टेक्नोलॉजी और इन्टरनेट का इस्तेमाल पिछले कुछ सालो में बड़ी मात्रा में बढ़ा हुआ दिखाई दे सकता है. २८ दिसम्बर, २०१५ के दिन हरियाणा के पंचकूला जिले को डिजिटल इंडिया अभियान के तहत सर्वोत्तम सम्मानित किया गया.

डिजिटल इंडिया अभियान भारत तथा विदेशो में भी सराहा गया. भारत सरकार के इस अभियान को विदेशो के कई टेक्नोलॉजी दिग्गज कंपनीओ ने प्रशंसित किया और मदद के लिए हाथ भी बढ़ाया. फेसबुक के सी.ई.ओ. मार्क झकरबर्ग ने डिजिटल इंडिया को अपना समर्थन देते हुए फेसबुक पर के श्रृंखला शुरू की और भारत के ग्रामीण विभागो में वाईफाई का इंतेजाम करने का वचन दिया. प्रसिद्द कंपनी गूगल ने भारत के ५०० रेलवे स्टेशनों पे इन्टरनेट सुविधा पोहचाने का वादा किया. माइक्रोसॉफ्ट ने भारत के ५ लाख गांवोंमें इन्टरनेट सुविधा देने का और अपनी कंपनी के डाटा सेंटर्स का भारत में शुरू करने का वादा किया.

डिजिटल इंडिया निष्कर्ष 

डिजिटल इंडिया अभियान भारतीय जनता की रोजाना जिंदगी में क्रन्तिकारी बदलाव लाएगी और भारत के हर एक नागरिक की ये जिम्मेदारी है की ये अभियान सफल करने में वह अपना योगदान दे. यह अभियान भारत को टेक्नोलॉजी जगत में ऊंचाइया छुनेमे में और भारतीयोंकी जिंदगी अधिक सुखकर बनाने में मददगार साबित होगा.

I hope you find this article helpful for you speech essay or paragraph writing on Digital India Campaign in Hindi(डिजिटल इंडिया कैंपेन हिंदी निबंध ). Feel free to give any suggestion. Thank You.  🙂

Liked the Post? then Rate it Now!!

[Total: 0 Average: 0]

विद्यार्थियों की मदद के लिये डिजिटल इंडिया अभियान पर हम यहाँ कई निबंध उपलब्ध करा रहें हैं क्योंकि सामान्यत: उन्हें कक्षा में किसी परीक्षा या प्रतियोगिता में निबंध लेखन का कार्य सौंपा जाता है। विभिन्न शब्द सीमा के साथ ही डिजिटल इंडिया पर दिये गये सभी निबंध बेहद सरल शब्दों में पिरोये गये हैं जो अलग-अलग कक्षाओं के विद्यार्थियों की जरुरत के आधार पर लिखे गये हैं।

डिजिटल इंडिया पर निबंध (डिजिटल इंडिया एस्से)

Find here some essays on Digital India in easy Hindi language for students in 100, 150, 200, 250, 300, and 400 words.

डिजिटल इंडिया पर निबंध 1 (100 शब्द)

डिजिटल इंडिया के रुप में, एक महत्वकांक्षी कार्यक्रम का आरम्भ दिल्ली के इंदिरा गाँधी इनडोर स्टेडियम में 1 जुलाई (बुधवार) 2015 को हुआ था। इसकी शुरुआत विभिन्न प्रमुख उद्योगपतियों (टाटा समूह के अध्यक्ष साइरस मिस्त्री, आरआईएल अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी, विप्रो अध्यक्ष अज़ीम प्रेमजी आदि) की मौजूदगी में हुई। सम्मेलन में, गाँव से शहर तक भारत की बड़ी संख्या में डिजिटल क्रांति लाने के अपने विचार को इन लोगों ने साझा किया। देश में 600 जिलों तक पहुँच के लिये सूचना तकनीक कंपनी की मौजूदगी में कई सारे कार्यक्रम रखे गये। देश को डिजिटल रुप से सशक्त बनाने के लिये भारतीय सरकार द्वारा लिया गया एक बड़ा कदम है डिजिटल इंडिया कार्क्रम। इस योजना से संबंधित विभिन्न स्कीमों को अनावृत किया जा चुका है (एक लाख करोड़ से ज्यादा की कीमत) जैसे डिजीटल लॉकर, ई-स्वास्थ्य, ई-शिक्षा, राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल, ई-हस्ताक्षर आदि।

डिजिटल इंडिया पर निबंध 2 (150 शब्द)

इस देश को डिजिटल रुप से सशक्त देश बनाने के लिये भारतीय सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान चलाया जा रहा है। इस मुहिम का लक्ष्य कागजी कार्यवाही को घटाने के द्वारा भारतीय नागरिकों को इलेक्ट्रॉनिक सरकार की सेवा उपलब्ध कराने की है। ये बहुत ही प्रभावशाली और कार्यकुशल है जो बड़े स्तर पर समय और मानव श्रम की बचत करेगा। किसी भी जरुरी सूचना तक पहुँच के लिये तेज गति इंटरनेट नेटवर्क के साथ ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों से जुड़ने के लिये 1 जुलाई 2015 को इस पहल की शुरुआत की गयी थी।

पूरे देश भर में डिजिटल संरचना का निर्माण, डिजिटल साक्षरता, डिजिटल तरीके से सेवा प्रदान करना जैसे डिजिटल इंडिया के तीन महत्वपूर्णं तत्व हैं। 2019 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य है। ये एक कार्यक्रम है जो सेवा प्रदाता और उपभोक्ता दोनों को फायदा पहुँचायेगा। इस कार्यक्रम की निगरानी और नियंत्रण करने के लिये डिजिटल इंडिया सलाहकार समूह (संचार एवं आईटी मंत्रालय के द्वारा संचालन) की व्यवस्था है।

डिजिटल इंडिया पर निबंध 3 (200 शब्द)

विभिन्न प्रमुख उद्योगपतियों की मौजूदगी में दिल्ली के इंदिरा गाँधी इनडोर स्टेडियम में 1 जुलाई 2015 को भारत की सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान की शुरुआत की गयी। इसका लक्ष्य भारत को विश्व का एक बेहतर नियंत्रित स्थान बनाना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इस प्रोजेक्ट को (एक लाख करोड़ रुपये) अनुमोदित किया गया है और 2019 तक इसके पूरा होने की उम्मीद है। इस कार्यक्रम की सफलता ई-गर्वनेंस के साथ भारतीय लोगों की सेवा करने के नरेन्द्र मोदी के सपने के सच होने जैसा होगा। कागज़ी कार्यवाही को घटाने, कार्य कुशलता में सुधार और समय की बचत के लिये इलेक्ट्रॉनिक सरकार की सेवा के साथ ये भारतीय नागरिकों को सहज करने के लिये है।

ये योजना वास्तव में तेज गति की इंटरनेट सेवा के साथ दूर-दराज़ के गाँवों और ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने के द्वारा खास तौर से भारत के ग्रामीण इलाकों में वृद्धि और विकास को सुनिश्चित करेगी। खुद प्रधानमंत्री के इस पूरे प्रोजेक्ट की निगरानी करेंगे। इंटरनेट की पहुँच में आने के बाद डिजिटल इंडिया के नागरिक अपने कौशल स्तर और ज्ञान में सुधार कर सकते हैं। ये एक महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट है जो हरेक को फायदा पहुँचायेगा खासतौर से गाँव वालों को जो कई कारणों से कागज़ी कार्य करने में लंबी दूरी तय करते हैं और समय तथा पैसा बर्बाद करते है। पहले से प्रचलित राष्ट्रीय ई-गर्वनेंस योजना का ये एक बहुत ही प्रभावशाली रुप (नो स्तंभों के साथ जो ब्रॉडबैण्ड हाइवे, लोक हित पहुँच कार्यक्रम, हर जगह मोबाईल कनेक्टिविटी, ई-क्रांति, ई-गर्वनेंस, सभी की सूचना, नौकरी के लिये आईटी, पूर्व फसल कार्यक्रम और इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण) है।


 

डिजिटल इंडिया पर निबंध 4 (250 शब्द)

विश्व के जानकार देशों के साथ ही एक संपूर्णं डिजिटल सशक्त भारत में बदलने के लिये 1 जुलाई 2015 (डिजिटल सप्ताह के रुप में 1 जुलाई से 7 जुलाई तक) को भारतीय सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट की शुरुआत हुई। एक आशाजनक अच्छे प्रतिफल को प्राप्त करने के लिये विभिन्न सरकारी विभाग जैसे आईटी, शिक्षा, कृषि आदि के द्वारा ये प्रोजेक्ट परस्पर संबद्ध है। दूरसंचार और सूचना तकनीक मंत्रालय द्वारा इसकी योजना और अध्यक्षता की गई है। अगर ये अच्छे से लागू हुआ तो भारत के लिये ये एक सुनहरे अवसर के समान होगा। इस प्रोजेक्ट के लोकार्पण के बेहद शुरुआत में ही लगभग 250,000 गाँवों और देश के दूसरे आवासीय इलाकों में तेज गति के इंटरनेट कनेक्शन को उपलब्ध कराने के लिये राज्य सरकार के द्वारा एक योजना बनायी गयी थी। इस प्रोजेक्ट में “भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड” द्वारा एक महत्वपूर्णं भूमिका अदा की है गयी जो वाकई सराहनीय है।

डिजिटल इंडिया में डेटा का डिजिटलाईजेशन आसानी से होगा जो भविष्य में चीजों को तेज और ज्यादा दक्ष बनाने में मदद करेगा। ये कागजी कार्य, समय और मानव श्रम की भी बचत करेगा। सरकार और निजी क्षेत्रक के बीच गठबंधन के द्वारा ये प्रोजेक्ट गति पकड़ेगा। तेज गति नेटवर्क के साथ आपस में जुड़े हुए बड़ी संख्या के गाँव वास्तव में पिछड़े क्षेत्रों से पूर्णं रुप से डिजिटली लैस इलाकों के रुप में एक बड़े बदलाव से गुजरेगा। भारत में सभी शहर, नगर और गाँव ज्यादा तकनीकी होंगे। मुख्य कंपनियों (राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय) के निवेश के साथ 2019 तक इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की योजना है। डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट में लगभग 2.5 लाख करोड़ के निवेश के लिये अंबानी के द्वारा घोषणा किया गया है।

डिजिटल इंडिया पर निबंध 5 (300 शब्द)

भारत को एक संपूर्ण डिजिटल देश में बदलने के लिये 1 जुलाई 2015 को भारतीय सरकार के द्वारा डिजिटल इंडिया अभियान की शुरुआत की गयी। सरकारी विभागों और प्रमुख कंपनियों (राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर) के एकीकरण के द्वारा डिजिटल रुप से सशक्त भारतीय समाज के लिये ये एक योजनागत पहल है। भारतीय नागरिकों के लिये आसान पहुँच पर सभी सरकारी सेवा उपलब्ध कराने के लिये इस देश का डिजाटाईजेशन करना मुख्य कारण है। इस कार्यक्रम के तीन मुख्य दृष्टिगत क्षेत्र हैं:

  • भारतीय लोगों के लिये एक जनोपयोगी सेवा की तरह पूरे देश में डिजिटल संरचना हो क्योंकि ये तेज गति की इंटरनेट पहुँच उपलब्ध करायेगा जिससे सभी सरकारी सेवा तक आसान और तेज पहुँच हो जायेगी। ये नागरिकों को जीवन पर्यन्त, अनोखा, ऑनलाईन और प्रामाणिक रुप से डिजिटल पहचान उपलब्ध करायेगा। ये किसी भी ऑनलाईन सेवा जैसे बैंक खाता संभालना, वित्त प्रबंधन, सुरक्षित और सुनिश्चित साईबर स्पेस, शिक्षा, दूरस्थ शिक्षा आदि के लिये बेहद कारगर साबित होगा।
  • सुशासन की अत्यधिक माँग और ऑनलाईन सेवा डिजिटाईजेशन के द्वारा वास्तविक समय में सभी सेवाओं को उपलब्ध करायेगा। डिजिटल रुप से बदली हुई सेवा भी वित्तिय लेन-देन को आसान, इलेक्ट्रॉनिक और बिना नकद के बनाने के द्वारा ऑनलाईन व्यापार करने के लिये लोगों को बढ़ावा देगी।
  • भारतीय लोगों का डिजिटल सशक्तिकरण डिजिटल संसाधनों की वैश्विक पहुँच के द्वारा डिजिटल साक्षरता को वास्तव में मुमकिन बनाएगी। ऑनलाईन प्रमाणपत्र या जरुरी दस्तावेज़ों को जमा करने के लिये ये लोगों को सक्षम बनायेगी ना कि स्कूल, कॉलेज, कार्यालय या किसी संस्थान में भौतिक रुप से प्रस्तुति की जरुरत होगी।

इस पहल के निम्न लक्ष्यों को सुनिश्चित करने के लिये भारतीय सरकार के द्वारा डिजिटल इंडिया कार्यक्रम को लागू किया गया है।

  • ब्रॉडबैंड हाइवे सुनिश्चित करना।
  • मोबाईल फोन के लिये वैश्विक पहुँच को सुनिश्चित करना।
  • तेज गति इंटरनेट से लोगों को सुगम बनाना।
  • डिजिटाईजेशन के माध्यम से सरकार में सुधार के द्वारा ई-गर्वनेंस लाना।
  • सेवाओं की इलेक्ट्रॉनिक डिलिवरी के द्वारा ई-क्रांति लाना।
  • सभी के लिये ऑनलाईन सूचना उपलब्ध कराना।
  • ज्यादा आईटी नौकरियों को सुनिश्चित करना।

 

डिजिटल इंडिया पर निबंध 6 (400 शब्द)

1 जुलाई 2015 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा डिजिटल इंडिया प्रोजेक्ट की शुरुआत की गयी थी। देश के लोगों के बेहतर विकास और वृद्धि के लिये रुपांतरित भारत के लिये ये एक प्रभावशाली योजना है। वरिष्ठ मंत्रालयी सहयोगियों और प्रमुख कंपनियों के सीईओ की मौजूदगी में बुधवार को पीएम के द्वारा डिजिटल इंडिया सप्ताह (1 जुलाई से 7 जुलाई) शुभारंभ हुआ। सुशासन और अधिक नौकरियों के लिये भारत को एक डिजिटल विस्तार देना इसका लक्ष्य है। सरकारी सेवा और लोगों के बीच की दूरी के अंतर को मिटाने के लिये डिजिटलीकरण अभियान की ओर भारत के पीएम ने अपना श्रेष्ठ प्रयास किया। किसी भी दूसरे देश से ज्यादा वृद्धि और अच्छे भविष्य के लिये भारत में डिजिटलीकरण की बहुत जरुरत थी।

डिजिटल इंडिया अभियान के निम्न लाभ:

  • डिजिटल लॉकर व्यवस्था लागू करने को ये मुमकिन बनाएगा जिसके परिणाम स्वरुप रजिस्टर्ड संग्रह के माध्यम से ई-शेयरिंग सक्षम बनाने के साथ ही भौतिक दस्तावेज़ को कम करने के द्वारा कागजी कार्यवाही को घटाएगा।
  • ये एक प्रभावशाली ऑनलाईन मंच है जो “चर्चा, कार्य करना, और वितरण” जैसे विभिन्न दृष्टिकोण के द्वारा शासन प्रणाली में लोगों को शामिल कर सकता है।
  • सरकार के द्वारा विभिन्न ऑनलाईन लक्ष्यों की प्राप्ति को ये सुनिश्चित करेगा।
  • कहीं से भी अपने दस्तावेज़ और प्रमाणपत्र को ऑनलाईन जमा करना लोगों के लिये ये संभव बनायेगा जो शारीरिक कार्य को घटायेगा।
  • ई-हस्ताक्षर संरचना के द्वारा नागरिक अपने दस्तावेज़ों को ऑनलाईन हस्ताक्षरित करा सकता है।
  • ई-अस्पताल के माध्यम से महत्वपूर्ण स्वास्थ्य परक सेवाओं को आसान बना सकता है जैसे ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन, डॉक्टर से मिलने का वक्त लेना, फीस जमा करना, ऑनलाईन लक्षणिक जाँच करना, खून जाँच आदि।
  • अर्जियों के जमा करने, प्रमाणीकरण प्रकिया, अनुमोदन और संवितरण के स्वीकृति के द्वारा राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल के माध्यम से लाभार्थी के लिये ये लाभ उपलब्ध कराता है।
  • ये एक बड़ा मंच है जो अपने नागरिकों के लिये पूरे देश भर में सरकारी और निजी सेवाओं के प्रभावशाली वितरण को आसान बनाता है।
  • भारत नेट कार्यक्रम (तेज गति का डिजिटल हाइवे) देश के लगभग 250,000 ग्राम पंचायतों को जोड़ेगा।
  • डिजिटल इंडिया पहल में मदद के लिये बाहरी स्रोत नीति भी एक योजना है। मोबाईल पर ऑनलाईन सेवाओं के बेहतर प्रबंधन के लिये जैसे वॉइस, डाटा, मल्टीमीडिया आदि, बीएसएनएल के अगली पीढ़ी का नेटवर्क 30 साल पुराने टेलिफोन एक्सचेंज को बदल देगा।
  • फ्लेक्सिबल इलेक्ट्रॉनिक के लिये राष्ट्रीय केन्द्र फ्लेक्सिबल इलेक्ट्रॉनिक को बढ़ावा देने में मदद करेगा।
  • पूरे देश में बीएसएनएल के द्वारा बड़े पैमाने पर वाई-फाई हॉटस्पॉट को फैलाने की योजना बनायी गयी है।
  • कनेक्टिवीटी से जुड़े सभी संबंधित मुद्दों को संभालने के लिये ब्रॉडबैंड हाइवे है।
  • सभी शहरों, नगरों और गाँवों में ब्रॉडबैंड हाइवे की खुली पहुँच माऊस के एक क्लिक पर विश्व स्तरीय सेवा की उपलब्धता को मुमकिन बनायेगा।

Previous Story

विविधता में एकता पर निबंध

Next Story

बेटी बचाओ पर निबंध

Categories: 1

0 Replies to “Digital India In Hindi Essay On Swachh”

Leave a comment

L'indirizzo email non verrà pubblicato. I campi obbligatori sono contrassegnati *